Mrs. & Sir

मिसेज यानी रखैल
यूरोप में लिविंग रिलेशनशिप की परंपरा सदियों से चली आ रही है जो महिलाएं लिविंग रिलेशनशिप में साथ रहती थी यूरोप के ओग उन्हें मिसेज कह कर पुकारते थे यानी दुसरे शब्दों में कहें तो रखैल जो पत्नि ना हो और साथ में रहती हो
भारत में कभी भी ऐसी परंपरा नहीं रही । भारतीय भाषाओं में पत्नि के लिए बड़े सुन्दर व् आदर पूर्वक शब्दों का इस्तेमाल किया जाता है जैसे धर्म पत्नि ।
अपना देश अपनी सभ्यता अपनी संस्कृति अपना गौरव
वन्दे मातरम
मैडम यानी अपनी औरत
मैडम शब्द फ्रेंच भाषा का है जिसका मतलब होता है मेरी औरत ।
क्या दुनिया में सभी महिलायें अपनी औरतें हैं । इसकी जगह भारत में उम्र के हिसाब से संबोधन करने की परंपरा रही है जैसे अपने से छोटी महिला हो तो बहन, बेटी थोड़ी बड़ी हो तो दीदी । उम्र में बहुत अंतर हो तो माताजी शब्द का इस्तेमाल किया जाता है और श्रीमति जी तो बहुत ही सुन्दर शब्द है
श्री माने लक्ष्मी मती माने बुद्धि यानी सरस्वती माँ ।
सो कृपया ऐसे शब्दों का प्रयोग करने से बचें ।
अपना देश अपनी सभ्यता अपनी संस्कृति अपना गौरव
वन्दे मातरम
सर यानी गुलामों का राजा
यूरोप में गुलाम रखने की परम्परा है जिस व्यक्ति के ज्यादा गुलाम होते थे उसे सर कहा जाता था ।
भारत में तो सदियों से पेड़, पौधे, जानवर, पहाड़ व् नदियों को पूजने की परम्परा रही है ।
गुलाम बनाने वालों को पूजना अथवा महान बनाने की हमारी परंपरा नहीं है ।
शब्दों के चयन का ध्यान रखें
अपना देश अपनी भाषा अपनी सभ्यता अपनी संस्कृति अपना गौरव
वन्दे मातरम